Sewadars List

मैं मानता हूं कि मैं रोहतक के ट्रस्टी के फैसले के खिलाफ हूं और मैं पूरे सम्मान के साथ दिव्य आसन पर लाल नाथ गुरु जी के दर्शन करना चाहता हूं। इसके लिए मैं किसी भी आवश्यक कार्रवाई के लिए आगे आने के लिए तैयार हूं। जय गुरु जी|